प्रधानमंत्री युवा योजना 2021| Pradhan Mantri Yuva Yojana 2021

प्रधानमंत्री युवा योजना 2021| Pradhan Mantri Yuva Yojana 2021

Table of Contents hide

Pradhan Mantri Yuva Yojana

प्रधानमंत्री युवा योजना 2021| Pradhan Mantri Yuva Yojana 2021|Prime Minister Yuva Yojana |

युवा लेखकों को परामर्श हेतु प्रधानमंत्री की राष्ट्रीय योजना ‘युवा, आगामी और बहुमुखी लेखक’ (युवा) योजना, Prime Minister’s Scheme For Mentoring Young Authors 2021 युवाओं के लिए शुरू की गई योजना, हर महीने मिलेंगे 50 हजार रुपये।

शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) के तहत उच्च शिक्षा विभाग ने युवा लेखकों (Young writers) को प्रशिक्षित करने के लिए प्रधानमंत्री युवा योजना (Pradhan Mantri Yuva Yojana 2021) की शुरूआत की है। यह युवा और नवोदित लेखकों (30 वर्ष से कम आयु) को प्रशिक्षित करने के लिए एक लेखक परामर्श कार्यक्रम (Writer Consulting Program) है। इससे पढ़ने, लिखने और पुस्तक के साथ संस्कृति को बढ़ावा दिया जा सकेगा। तथा साथ ही साथ वैश्विक स्तर पर भारत और भारतीय लेखन को प्रदर्शित किया सकेगा।

युवा (युवा, आगामी और बहुमुखी लेखकों):

युवा (युवा, आगामी और बहुमुखी लेखकों) की शुरुआत युवा लेखकों को भारत के स्वतंत्रता संघर्ष के बारे में लिखने के लिए प्रोत्साहित करने के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के अनुरूप है। 31 जनवरी, 2021 को मन की बात के दौरान, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने युवा पीढ़ी से स्वतंत्रता सेनानियों, स्वतंत्रता से जुड़ी घटनाओं, स्वतंत्रता संग्राम की अवधि के दौरान वीरता की गाथा के बारे में अपने-अपने संबंधित क्षेत्रों में लिखने का आह्वान किया था। उनका कहना था कि यह भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने के अवसर पर भारत की स्वतंत्रता के नायकों को सर्वश्रेष्ठ श्रद्धांजलि के रूप में होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा, “यह विचारशील नेताओं की एक श्रेणी भी तैयार करेगा जो भविष्य की दिशा तय करेगा।”

भारत@75 परियोजना (Bharat @75 Pariyojana):

युवा, भारत@75 परियोजना (आजादी का अमृत महोत्सव) का एक हिस्सा है। यह योजना विस्मृत नायकों, स्वतंत्रता सेनानियों, अज्ञात और भूले हुए स्थानों और राष्ट्रीय आंदोलन में उनकी भूमिका और अन्य विषय वस्तुओं पर लेखकों की युवा पीढ़ी के दृष्टिकोण को एक अभिनव व रचनात्मक तरीके से सामने लाने के लिए है। इस प्रकार यह योजना लेखकों की एक धारा विकसित करने में सहायता करेगी जो भारतीय विरासत, संस्कृति और ज्ञान प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए विषयों के अलग-अलग पहलुओं पर लिख सकते हैं।

नेशनल बुक ट्रस्ट कार्यान्वयन एजेंसी (National Book Trust Agency):

इसके लिए कार्यान्वयन एजेंसी के रूप में शिक्षा मंत्रालय के तहत नेशनल बुक ट्रस्ट, भारत संरक्षण के सुव्यवस्थित चरणों के तहत इस योजना के चरणबद्ध निष्पादन को सुनिश्चित करेगा। इस योजना के तहत तैयार की गई पुस्तकों का प्रकाशन नेशनल बुक ट्रस्ट, भारत करेगा। भारतीय संस्कृति और साहित्य के आदान-प्रदान को सुनिश्चित करने के लिए इनका अन्य भारतीय भाषाओं में भी अनुवाद किया जाएगा, जिससे ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत‘ को बढ़ावा मिलेगा। वहीं चयनित युवा लेखक विश्व के कुछ बेहतरीन लेखकों के साथ बातचीत करेंगे और साहित्यिक उत्सवों आदि में भाग लेंगे।

नेशनल बुक ट्रस्ट (National Book Trust : NBT):

  1. एनबीटी 1957 में उच्च शिक्षा विभाग के तहत भारत सरकार द्वारा स्थापित एक शीर्ष निकाय है।
  2. एनबीटी का उद्देश्य अंग्रेजी, हिंदी और अन्य भारतीय भाषाओं में अच्छे साहित्य के उत्पादन और उत्पादन को प्रोत्साहित करना और ऐसे साहित्य को जनता के लिए मध्यम कीमतों पर उपलब्ध कराना है।
  3. इसका उद्देश्य पुस्तक सूची तैयार करना, पुस्तक मेलों/प्रदर्शनियों और संगोष्ठियों की व्यवस्था करना और लोगों को किताबी दिमाग बनाने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाना भी है।
  4. एनबीटी वार्षिक नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेले का आयोजन करता है, जो एफ्रो-एशियाई क्षेत्र में सबसे बड़ा पुस्तक कार्यक्रम है। 
  5. इसे प्रकाशित करना अनिवार्य है:
    1. भारत का शास्त्रीय साहित्य
    2. भारतीय लेखकों की भारतीय भाषाओं में रचनाएँ और अन्य भारतीय भाषाओं में उनके अनुवाद
    3. विदेशी रचनाओं का भारतीय भाषाओं में अनुवाद
    4. लोकप्रिय प्रसार के लिए आधुनिक ज्ञान की पुस्तकें
  6. यह अन्य गतिविधियों में भी संलग्न है जैसे पढ़ने और किताबों को बढ़ावा देना, मोबाइल पुस्तक प्रदर्शनियों का आयोजन, बच्चों के साहित्य का प्रचार, विदेशों में भारतीय पुस्तकों का प्रचार, अनुवाद के लिए सहायता प्रदान करना, और लेखकों और प्रकाशकों की सहायता करना।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020:

राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 ने युवा दिमागों के सशक्तिकरण और एक सीखने वाला इकोसिस्टम बनाने पर जोर दिया है, जो युवा पाठकों/सीखने वालों को भविष्य की दुनिया में नेतृत्व की भूमिकाओं के लिए तैयार कर सकता है। इस संदर्भ में, युवा रचनात्मक संसार के भविष्य के नेताओं की नींव रखने में एक लंबा सफर तय करेगा।

इसके माध्यम से आयोजित होने वाली अखिल भारतीय प्रतियोगिता के जरिए कुल 75 लेखकों का चयन किया जाएगा। विजेताओं की घोषणा 15 अगस्त, 2021 को की जाएगी, इसमें युवा लेखकों को प्रख्यात लेखक व संरक्षक प्रशिक्षित करेंगे। संरक्षण के तहत, पांडुलिपियों को प्रकाशन के लिए 15 दिसंबर, 2021 तक पढ़ा जाएगा। प्रकाशित पुस्तकों का विमोचन 12 जनवरी, 2022 को राष्ट्रीय युवा दिवस (युवा दिवस) के अवसर पर किया जाएगा। संरक्षण योजना के तहत छह महीने की अवधि के लिए प्रत्येक लेखक को 50,000 रुपये प्रति माह की समेकित छात्रवृत्ति का भुगतान किया जाएगा।

युवा लेखकों को भारत के स्वतंत्रता संघर्ष के बारे में लिखने के लिए प्रोत्साहित करने के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण के अनुरूप है, 31 जनवरी, 2021 को मन की बात के दौरान, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने युवा पीढ़ी से स्वतंत्रता सेनानियों, स्वतंत्रता से जुड़ी घटनाओं, स्वतंत्रता संग्राम की अवधि के दौरान वीरता की गाथा के बारे में अपने-अपने संबंधित क्षेत्रों में लिखने का आह्वान किया था। उनका कहना था कि यह भारत की आजादी के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर पर भारत की स्वतंत्रता के नायकों को सर्वश्रेष्ठ श्रद्धांजलि के रूप में होगा। प्रधानमंत्री जी ने कहा, यह विचारशील नेताओं की एक श्रेणी भी तैयार करेगा जो भविष्य की दिशा तय करेगा

युवा लेखकों को परामर्श हेतु प्रधानमंत्री की राष्ट्रीय योजना ‘युवा, आगामी और बहुमुखी लेखक’ (युवा) योजना,  Prime Minister’s Scheme For Mentoring Young Authors 2021 युवाओं के लिए शुरू की गई योजना, हर महीने मिलेंगे 50 हजार रुपये।

युवा योजना मूल रूप से युवा लेखकों को प्रशिक्षित करने के लिए एक परामर्श कार्यक्रम है। इसका उद्देश्य 30 वर्ष से कम आयु के 75 लेखकों को परामर्श देना है।

  • यह उन युवा लेखकों को लक्षित करता है जो खुद को अभिव्यक्त करने और भारतीय संस्कृति और साहित्य को एक वैश्विक क्षेत्र में चित्रित करने के लिए तैयार हैं।
  • इस योजना के तहत, प्रत्येक लेखक को छह महीने की अवधि के लिए 50,000 रुपये प्रति माह की समेकित छात्रवृत्ति मिलेगी।
  • इस कार्यक्रम के पीछे का उद्देश्य पठन और लेखकत्व को अन्य व्यवसायों के समान एक पेशे के रूप में आगे बढ़ाना है।
  • पहल के पीछे एक और मकसद COVID-19 महामारी के बीच युवा दिमाग को सकारात्मक मनोवैज्ञानिक प्रोत्साहन प्रदान करना है।
  • यह योजना भारतीय साहित्य के आधुनिक राजदूतों को विकसित करने की कल्पना करती है क्योंकि देश स्वतंत्रता के 75 वर्ष की ओर बढ़ रहा है।
  • इस योजना से लेखकों की एक धारा उत्पन्न होने की उम्मीद है जो भारतीय विरासत, संस्कृति और ज्ञान को बढ़ावा देने वाले विभिन्न विषयों पर लिखने में सक्षम होंगे।
  • इससे इच्छुक लेखकों को अपनी मातृभाषा में खुद को अभिव्यक्त करने और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने देश का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिलेगा।
  • इस योजना में कथा, गैर-कथा, नाटक, कविता, संस्मरण, यात्रा वृतांत आदि जैसे विभिन्न शैलियों को शामिल किया जाएगा।

प्रधानमंत्री युवा योजना महत्वपूर्ण बिंदु-Overview

 
प्रधानमंत्री युवा योजना महत्वपूर्ण बिंदु-Overview
योजना का नाम प्रधानमंत्री युवा योजना
योजना का प्रकार केंद्र सरकार की योजना
आरम्भ की तिथि 4 जून 2021 
लाभार्थी 1 जून 2021 को 30 वर्ष या उससे कम के युवा भारतीय नागरिक
उद्देश्य भारत की संस्कृति को किसी भी अंतरराष्ट्रीय मंच पर लाना चाहते हैं, साथ ही इससे भारतीय संस्कृति और साहित्य को विश्व स्तर पर पेश करने में मदद मिलेगी।
Official website https://innovateindia.mygov.in/yuva/ 

प्रधानमंत्री युवा योजना लक्ष्य:

यह योजना 30 वर्ष से कम उम्र के युवा लेखकों का एक पूल तैयार करेगी जो खुद को और भारत की संस्कृति को किसी भी अंतरराष्ट्रीय मंच पर लाना चाहते हैं, साथ ही इससे भारतीय संस्कृति और साहित्य को विश्व स्तर पर पेश करने में मदद मिलेगी।

युवा लेखकों को फिक्शन, नॉन-फिक्शन, यात्रा, संस्मरण, नाटक, कविता और ऐसे विभिन्न शैलियों के लेखन में कुशल बनाने हेतु प्रशिक्षण दिया जाएगा।

यह नौकरी के अन्य विकल्पों के समान ही पसंदीदा पेशे के तौर पर पढ़ने और ज्ञान अर्जन को बढ़ावा देगा, जिससे देश के बच्चों को पढ़ाई और ज्ञान को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाने की प्रेरणा मिलेगी। इसके अलावा, यह महामारी के मुश्किल वक्त में युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए उन्हें एक सकारात्मक दिशा में प्रेरित करेगा।

प्रधानमंत्री युवा योजना विषय:

  • गुमनाम नायक
  • राष्ट्रीय आंदोलन के बारे में अल्पज्ञात तथ्य
  • राष्ट्रीय आंदोलन में विभिन्न स्थानों की भूमिका
  • राष्ट्रीय आंदोलन के राजनीतिक, सांस्कृतिक, आर्थिक या विज्ञान संबंधी पहलुओं से संबंधित नए दृष्टिकोणों को सामने लाना

प्रधानमंत्री युवा योजना विशेषताएं:

युवा (युवा, आगामी और बहुमुखी लेखक) की मुख्य विशेषताएं:

  1. 1 जून से 31 जुलाई, 2021 तक https://www.mygov.in/ के माध्यम से आयोजित होने वाली अखिल भारतीय प्रतियोगिता के जरिए कुल 75 लेखकों का चयन किया जाएगा।
  2. विजेताओं की घोषणा 15 अगस्त, 2021 को की जाएगी।
  3. युवा लेखकों को प्रख्यात लेखक/संरक्षक प्रशिक्षित करेंगे।
  4. संरक्षण के तहत, पांडुलिपियों को प्रकाशन के लिए 15 दिसंबर, 2021 तक पढ़ा जाएगा।
  5. प्रकाशित पुस्तकों का विमोचन 12 जनवरी, 2022 को राष्ट्रीय युवा दिवस (युवा दिवस) के अवसर पर किया जाएगा।
  6. संरक्षण योजना के तहत छह महीने की अवधि के लिए प्रत्येक लेखक को 50,000 रुपये प्रति माह की समेकित छात्रवृत्ति का भुगतान किया जाएगा।

युवा लेखकों के लिए युवा योजना आवेदन कैसे करें:

  1. MyGov  (https://innovateindia.mygov.in/yuva/  ) पर अखिल भारतीय प्रतियोगिता के माध्यम से कुल 75 लेखकों का चयन किया जाएगा।
  2. चयन एनबीटी द्वारा गठित एक समिति द्वारा किया जाएगा।
  3. यह प्रतियोगिता 4 जून से 31 जुलाई 2021 तक चलेगी।
  4. मेंटरशिप योजना के तहत प्रतियोगियों को 5000 शब्दों की पांडुलिपि प्रस्तुत करनी होगी ताकि एक पुस्तक की समुचित रचना से संबंधित उपयुक्तता को आंका जा सके
  5. बड़ी संख्या में सबमिशन को देखते हुए रिजल्ट के घोषणा की तिथि बढ़ा दी गई है, ताकि युवा प्रतिभाओं के प्रविष्टि की निष्पक्ष समीक्षा की जा सके।
  6. मेंटरशिप के आधार पर, चयनित लेखक मनोनीत मेंटर के मार्गदर्शन में अंतिम चयन हेतु पांडुलिपियां तैयार करेंगे।
  7. विजेताओं की प्रविष्टियां 15 दिसंबर 2021 तक प्रकाशन के लिए तैयार की जाएंगी।
  8. प्रकाशित पुस्तकों का लोकार्पण 12 जनवरी 2022 को युवा दिवस या राष्ट्रीय युवा दिवस पर किया जा सकता है।
  9. प्रतियोगिता भारत के नागरिकों के लिए खुली है जो 1 जून 2021 को 30 वर्ष से कम आयु के हैं। भारत से बाहर रहने वाले भारतीय नागरिक जिनके पास पी आई ओ कार्ड (पर्सन ऑफ़ इंडियन ओरिजिन) या भारतीय पासपोर्ट रखने वाले एन आर आई (अनिवासी भारतीय) भी इस प्रतियोगिता में भी भाग ले सकते हैं।
  10. प्रतियोगी अपनी प्रविष्टि सफलतापूर्वक जमा करने पर भागीदारी का प्रमाण पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। कृपया ध्यान दें कि यह प्रमाण पत्र सफलता पूर्वक जमा की गई प्रविष्टि की केवल एक पावती है और किसी भी तरह से मेंटरशिप प्रोग्राम के लिए चयन की गारंटी नहीं देता है।

पहला चरण – प्रशिक्षण (3 महीने):

  1. चयनित उम्मीदवारों के लिए नेशनल बुक ट्रस्ट इंडिया दो सप्ताह का राइटर्स ऑनलाइन कार्यक्रम आयोजित करेगा।
  2. जिसके दौरान दो प्रख्यात लेखकों/एनबीटी के जाने-माने लेखकों के पैनल के मेंटर द्वारा युवा लेखकों को प्रशिक्षित किया जाएगा।
  3. दो सप्ताह के राइटर्स ऑनलाइन कार्यक्रम पूरा होने के बाद, लेखकों को एनबीटी द्वारा आयोजित विभिन्न ऑन लाइन/ऑन-साइट राष्ट्रीय शिविरों में 2 सप्ताह का प्रशिक्षण दिया जाएगा

द्वितीय चरण –प्रोत्साहन (3 महीने):

  1. युवा लेखकों को साहित्यिक उत्सव, पुस्तक मेला, वर्चुअल बुक फेयर, सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि जैसे विभिन्न अंतरराष्ट्रीय आयोजनों में संवाद के माध्यम से अपनी समझ का विस्तार करने और अपने कौशल को निखारने का अवसर मिलेगा।
  2. मेंटरशिप योजना के तहत मेंटरशिप के अंत में प्रति लेखक 6 महीने (50,000 x 6 = 3 लाख रुपये) की अवधि के लिए प्रति माह 50,000 रुपये प्रति माह के मुताबिक समेकित छात्रवृत्ति का भुगतान किया जाएगा।
  3. मेंटरशिप कार्यक्रम के तहत युवा लेखकों द्वारा लिखी गई पुस्तक या पुस्तकों की सीरीज 0 एनबीटी, भारत द्वारा प्रकाशित की जाएगी।
  4. मेंटरशिप कार्यक्रम के अंत में पुस्तकों के सफल प्रकाशनों पर लेखकों को 10% की रॉयल्टी देय होगी।
  5. विभिन्न राज्यों के बीच साहित्य और सांस्कृतिक आदान-प्रदान सुनिश्चित करने और एक भारत श्रेष्ठ भारत को बढ़ावा देने के लिए प्रकाशित पुस्तकों का अन्य भारतीय भाषाओं में अनुवाद किया जाएगा।

FAQ (Frequently Asked Questions):

Q1: किन-किन विषयों पर प्रतिभागी अपनी प्रविष्टि भेज सकते हैं?

Answer: मुख्य विषय है-

  • गुमनाम नायकों; 
  • राष्ट्रीय आंदोलन के बारे में कम मालूम तथ्य; 
  • राष्ट्रीय आंदोलन में विभिन्न स्थानों की भूमिका;
  • प्रविष्टियों को राष्ट्रीय आंदोलन से जुड़े राजनीतिक, 
  • आर्थिक, या विज्ञान से जुड़े नये पहलुओं को सामने लाने वाला होना चाहिए।
Q2: प्रतियोगिता की अवधि क्या है?

Answer: प्रतियोगिता की अवधि 4 जून 2021 से 31 जुलाई 2021 (रात 11:59 बजे) है।

Q3. सबमिशन कब तक स्वीकार किया जाएगा?

AnswerMyGov पर 31 जुलाई 2021 को 11:59 बजे तक सबमिशन स्वीकार किया जाएगा।

Q4. क्या मैं किसी भारतीय भाषा में लिख सकता/सकती हूं?

Answerहां, आप अंग्रेजी या भारतीय संविधान की 8वीं अनुसूची में सूचीबद्ध निम्न में से किसी भी भाषा में लिख सकते/सकती हैं:
1) असमिया, 2) बांग्ला, 3) गुजराती 4) हिंदी, 5) कन्नड़ 6) कश्मीरी 7) कोंकड़ी 8) मलयालम 9) मणिपुरी 10) मराठी 11) नेपाली 12) उड़िया 13) पंजाबी 14) संस्कृत 15) सिंधी 16) तमिल 17) तेलगु 18) उर्दू 19) बोडो 20) संथाली 21) मैथिली 22) डोगरी

Q5. अधिकतम 30 वर्ष की आयु कैसे तय की जाएगी?

Answer: 1 जून 2021 को आपकी आयु ठीक 30 वर्ष या उससे कम होनी चाहिए।

Q6. प्रतियोगिता में कौन भाग ले सकता है?

Answer: 1 जून 2021 को 30 वर्ष या उससे कम के भारतीय नागरिक।

Q7. क्या विदेशी नागरिक भी प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं?

Answerपीआईओ या भारतीय पासपोर्ट रखने वाले एनआरआई सहित केवल भारतीय नागरिक ही प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं।

Q8. क्या मैं एक से अधिक प्रविष्टियां जमा कर सकता हूं?

Answerप्रति प्रतियोगी केवल एक प्रविष्टि की अनुमति है।

Q9. प्रविष्टि की संरचना क्या होनी चाहिए?

Answerइसमें 5000 शब्दों की शब्द सीमा के भीतर एक अध्याय योजना, सारांश और दो-तीन अध्याय (यदि प्रविष्टि में अध्याय हैं) होना चाहिए।

Q10. क्या मैं 500 से अधिक शब्द जमा कर सकता/सकती हूं?

Answerप्रतिभागियों को 5000 शब्दों की शब्द सीमा का पालन करना चाहिए।

Q11. मुझे कैसे पता चलेगा कि मेरी प्रविष्टि पंजीकृत हो गयी है?

Answerआपको MyGov.IN की ओर से एक पावती ईमेल प्राप्त होगा। फाइनल सबमिशन के बाद अपना भागीदारी प्रमाणपत्र डाउनलोड करना न भूलें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button